हिंदी और अंग्रेजी में नहीं अपनी लोकल भाषा में बनाए आधार। जानिए ऑनलाइन तरीका।

UIDAI ने अब आपके आधार कार्ड को 13 भाषाओं में उपलब्ध कराने की सुविधा दी है। अब आप लोकल भाषा में बनाए आधार कार्ड।

अगर आप अपने आधार कार्ड पर किसी भी प्रकार का सुधार या उससे जुड़ी किसी समस्याओं का निराकरण चाहते हैं और आपके पास अगर यह सुविधा उपलब्ध की जाए कि आप इसे अपने क्षेत्रीय भाषा में इस पर किसी भी प्रकार का बदलाव कर सकते हैं तो यह आपके लिए बहुत ही फायदेमंद साबित हो सकता है।

 

यूआईडीएआई  UIDAI  ने अब आपके आधार कार्ड को 13 भाषाओं में उपलब्ध कराने की सुविधा दी है। आधार कार्ड में भाषा बदलने के लिए इस सुविधा का लाभ ऑनलाइन ऑफलाइन और डाक के माध्यम से भी उपलब्ध करवाया जा रहा है।

 

 

 

तो आइए जानते हैं कि आप अपने आधार कार्ड में भाषा बदलने के लिए आवेदन किस प्रकार से कर सकते हैं:

 

इस कार्य को करने के लिए सबसे पहले आपको आधार या यूआईडीएआई के आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा जिसके लिए आपको एक लिंक उपलब्ध कराया जा रहा है जो इस प्रकार से है https://uidai.gov.in/ ,आप इस दिए गए लिंक पर क्लिक करके आधार की ऑफिशियल वेबसाइट पर पहुंच जाएंगे।

 

  • इसके बाद आप अपडेट सेक्शन में जनसांख्यिकीय डाटा ऑनलाइन अपडेट करें सेक्शन पर क्लिक करें।

 

  • अब आपके सामने आधार सेल्फ सर्विस अपडेट पोर्टल ओपन हो जाएगा और आपको इस पोर्टल को खोलने के लिए कैप्चा  सिक्योरिटी कोड के साथ 12 अंकों का यूनिक बेस नंबर डालना होगा।

 

  • कैप्चा कोड और 12 अंकों का यूनिक बेस नंबर डालने के बाद सेंड वन टाइम पासवर्ड (ओटीपी) पर क्लिक करें।

 

  • इसके बाद आपके आधार के साथ जुड़े मोबाइल नंबर पर 6 अंकों का एक ओटीपी प्राप्त होगा।

 

  • इसमें 6 अंको की ओटीपी को दर्ज करें और उसके बाद लॉगइन बटन पर क्लिक करें। इसके बाद अपडेट डेमोग्राफिक डाटा बटन पर क्लिक करें। इस प्रक्रिया को पूरा करने के बाद आपके सामने इस पृष्ठ में सभी जनसांख्यिकीय डाटा उपलब्ध होगा यहाँ आप अपनी पसंदीदा क्षेत्रीय भाषाओं को चुन सकते हैं।

 

  • आपके सामने जो पॉपअप है उसमे जनसंख्या को अपडेट करने के लिए प्रक्रिया का पालन करें और अपना आवेदन जमा कर दें। इसके बाद इस बात की जांच करें कि क्या आपका नाम स्थानीय भाषा में सही ढंग से लिखा गया है या नहीं और अगर आपको यह लगे किस में सुधार करने की आवश्यकता है तो एक बार जांच कर ले और फिर आगे की कार्यवाही करें।

 

  • अपने पते से संबंधित जानकारियों को संपादित करें। इसके बाद प्रीव्यू बटन पर क्लिक करके देखें कि आपके द्वारा दी गई सभी जानकारी सही है या नहीं।

 

  • आपकी रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर एक ओटीपी जनरेट होगा । प्रमाण के रूप में दस्तावेजों की स्किन की हुई कॉपी जमा करें और उसके बाद सत्यापन के लिए जमा करें।

 

  • पता बदलने के बाद स्थानीय भाषा अपने आप बदल जाएगी इन सभी प्रक्रियाओं के बाद आप अपना नया आधार कार्ड डाउनलोड कर सकते हैं।

 

तो इस प्रकार से अगर आपको हिंदी या अंग्रेजी की जानकारी ना भी हो फिर भी आप अपने लोकल भाषा में अपना आधार कार्ड बना सकते हैं और इसके लिए ऑनलाइन आवेदन दे सकते हैं।

 

 

Aadhaar Card क्या है? 

 

आधार कार्ड भारत सरकार के द्वारा भारत के नागरिकों को जारी किया जाने वाला पहचान पत्र होता है। इसमें 12 अंकों की एक विशिष्ट संख्या छपी हुई होती है जिसे भारतीय विशिष्ट पहचान प्राधिकरण (भा.वि.प.प्रा.) जारी करता है। यह संख्या, भारत में रहने वाले किसी भी व्यक्ति की पहचान और पते का प्रमाण होता है ।

 

भारतीय डाक द्वारा प्राप्त और यू.आई.डी.ए.आई.  UIDAI की वेबसाइट से डाउनलोड किया गया ई-आधार दोनों ही समान रूप से मान्य होता हैं। कोई भी व्यक्ति आधार के लिए नामांकन करवा सकता है लेकिन शर्त यह है की वह भारत का निवासी हो और UIDAI  द्वारा निर्धारित सत्यापन प्रक्रिया को पूरा करता हो, चाहे उसकी उम्र और लिंग (जेण्डर) कुछ भी हो। प्रत्येक व्यक्ति केवल एक बार नामांकन करवा सकता है। आधार में नामांकन निःशुल्क होता है । आधार कार्ड एक पहचान पत्र मात्र है और यह नागरिकता का प्रमाणपत्र नहीं माना जाता है।

 

आधार कार्ड को अपडेट कैसे कर सकते है ?

 

आप अपने आधार कार्ड को ऑनलाइन Online और ऑफलाइन माध्यम से अपडेट कर सकते है। या खोये हुए आधार कार्ड को पुनः प्राप्त कर सकते है। यहाँ डाउनलोड किया गया आधार कार्ड पूर्णता वैध माना जाता है। 

केवल वे ही व्यक्ति जिन्होंने आधार के साथ अपना वैध मोबाइल नंबर पंजीकृत किया है, वे इसे ऑनलाइन अपडेट कर सकेंगे तो इस बात का ध्यान रखे की आधार कार्ड को अपडेट करने के लिए एक मोबाइल नंबर की आवश्यकता पड़ती है । अगर आपके पास कोई मोबाइल नंबर है तो उसे अपने आधार के साथ जरूर लिंक करवाए। इससे आप भविस्य में किसी परेशानी में पड़ने पर मोबाइल नंबर के जरिये आप उस समस्या से पार पा सकते है। 

 

चूंकि ऑनलाइन लेनदेन OTP प्रमाणित है, इसलिए आधार के साथ अपना मोबाइल नंबर पंजीकृत करना अनिवार्य हो जाता है। 

 

यदि आप अपडेशन के लिए ऑनलाइन स्वयं सर्विस अद्यतन (अपडेट) पोर्टल (SSUP) का उपयोग कर रहे हैं, तो आप अपने जनसांख्यिकीय विवरण (आपका नाम, पता, जन्म की तिथि (date of birth ), लिंग, मोबाइल और ईमेल एड्रेस  ) को अपडेट कर सकते हैं। सुनिश्चित करें कि इस सेवा का उपयोग करते समय आपका मोबाइल नंबर आधार में पंजीकृत हो ।

 

 

Share

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *