असफलताओं का सकारात्मक पक्ष क्या है ? Famous Failures That Will Inspire You

असफलता हमेशा आपको अपने बारे में कुछ मूल्यवान सिखाती है। दुनिया में जितने भी प्रसिद्ध लोग हुए है उन्होंने अपने जीवन में अनेको बार असफलता का स्वाद चखा है , मगर उन्होंने उससे कुछ सिख ली है , जो आज उन्हें दुसरो से अलग बनती है।

 

विफलता हमें उस सबसे पहले विकल्प के लिए वैकल्पिक रास्ता तलाशने के लिए प्रेरित करती है। एक विफलता आपको संघर्ष के नए संभावित समाधान खोजने के लिए अधिक रचनात्मक बनने में मदद करती है।

 

आज इस लेख में,आपके सामने कुछ ऐसे सफल लोगो के बारे में बताने जा रहा हूँ , जिन्होंने अपने  जीवनकाल में बहुत से कठिनाईयों का सामना करते हुए अपने सपनो को पूरा किया है। कभी कभी विफलता आपको बहुत कुछ ऐसा सीखा देती है जो सामान्य समय में आप उसका अनुभव कर पाने में असफल रहेंगे। दुनिये के जितने भी सफल लोग हुए है उनके सामने भी इस तरह की मुस्किले आयी मगर वे डरे नहीं , रुके नहीं , चुप हो कर अपने किस्मत को कोसते हुए बैठे नहीं उन्होंने उसका सामना किया और अपने सपनो को पूरा करने के लिए लगातार प्रयास करते रहे। 

 

आपको भी अपने जीवन में ऐसे दिक़्क़तों का सामना करना पड़ता होगा , तो ऐसे में आप क्या करेंगे ? क्या आप चुप होकर बैठ जायेंगे ? नहीं ना ! 

 

आपको भी इन पारस्थितयों में वैसा ही सोचना चाहिए जैसा की दुनिया के बहुत से सफल लोग सोचते है। 

 

 

Famous Failures That Will Inspire You

 

 

“असफलता सफलता की ओर एक कदम है। जीवन में जितनी असफलताएं मिलती हैं, उतने ही अनुभवी होते जाते हैं। “

 

इसे भी जरूर पढ़े :  सफल लोगों के द्वारा अपनाई गई प्रमुख बातें जो उनको दूसरों से अलग बनाती है

 

 

 

 

कुछ महत्वपूर्ण लोग जिन्होंने सफल होने से पहले अनेको बार असफलता का स्वाद चखा : 

 

अब्राहम लिंकन

 

1809 में जन्मे अब्राहम लिंकन संयुक्त राज्य अमेरिका के 16वें राष्ट्रपति होने के लिए प्रसिद्ध हैं। वह समान अधिकारों के बहुत बड़े हिमायती थे, और उन्होंने अमेरिका में दासों की स्वतंत्रता की दिशा में एक पथ प्रज्वलित किया था । लेकिन लिंकन ने सफलता की कहानी के रूप में शुरुआत नहीं की। देश में सर्वोच्च पद प्राप्त करने से पहले वह कई बार असफल हुए। 1848 में, 39 वर्ष की आयु में, लिंकन भी Washington D .C में सामान्य भूमि कार्यालय के आयुक्त बनने की अपनी दावेदारी के चुनाव में विफल रहे, उसके दस साल बाद, 49 वर्ष की आयु में, एक अमेरिकी सीनेटर बनने की अपनी खोज में वे हार गए। 

 

परन्तु , सभी व्यक्तिगत, व्यावसायिक और राजनीतिक विफलताओं के बावजूद, लिंकन ने हार नहीं मानी।

 

अल्बर्ट आइंस्टीन

 

1879 में जन्मे, जिस व्यक्ति को हम सभी अब तक के सबसे शानदार बौद्धिक लोगो में से एक के रूप में जानते हैं, उन्होंने कभी एक बड़ी विफलता का स्वाद चखा था। असल में, आइंस्टीन 4 साल की उम्र तक बोल नहीं पाते थे।  1895 में, 16 साल की उम्र में, वह ज्यूरिख में स्थित स्विस फेडरल पॉलिटेक्निक स्कूल में प्रवेश के लिए परीक्षा उत्तीर्ण करने में असफल रहे।

 

लेकिन , वे वही व्यक्ति है जिन्होंने हमें भौतिक विज्ञान और गणित में किए गए अपने अभूतपूर्व काम के साथ सापेक्षता का सिद्धांत दिया , और हमें इस बारे में गहरी समझ तक पहुंचने में मदद की कि ब्रह्मांड कैसे काम करता है, भौतिकी को नियंत्रित करने वाले कई बुनियादी सिद्धांतों को विकसित करते हुए, उन्होंने नोबेल पुरस्कार जीता। 1921 में और क्वांटम सिद्धांत की शुरुआत की।

 

बिल गेट्स

 

1955 में सिएटल, वाशिंगटन में जन्मे बिल गेट्स , 17 साल की कम उम्र में, उन्होंने  उद्यमशीलता की भावना का प्रदर्शन किया, अपने बचपन के दोस्त पॉल एलन के साथ एक कंपनी बनाई, जिसे ट्रैफ-ओ-डेटा कहा जाता है। मगर उनका ये business चल नहीं पाया। साथ ही बिल गेट्स हारवर्ड यूनिवर्सिटी ड्रॉपआउट भी थे। मगर इन असफलताओ के डर से बैठे नहीं और आज वे दुनिया के सबसे सफल बिज़नेस मैन है। 

 

कर्नल हारलैंड सैंडर्स

 

अगर आप नॉन वेज के शौकीन है तो इनका नाम आपने ज़रूर सुना होगा, इनके चिकन के डिशेश पुरे दुनियाँ में फेमस है। इंडियाना में 1890 में जन्मे, केंटकी फ्राइड चिकन (KFC) के संस्थापक कर्नल हारलैंड सैंडर्स न केवल अपने चिकन नुस्खा के लिए प्रसिद्ध हैं, बल्कि जीवन और व्यवसाय में उनकी कई असफलताओं के लिए भी प्रसिद्ध हैं।

आपको ये जानकार आश्चर्य होगा की आज जिस KFC ब्रांड को पूरी दुनिया जानती है और उसके उत्पादों का उपभोग करती है अपने शुरुवाती दिनों में वे लगभग  1009 बार असफलता के दौर से गुजरी थी। उनके उत्पाद विचार पर सहमत होने से पहले उन्हें 1,009 रेस्तरां द्वारा पूर्ण रूप से अस्वीकार कर दिया गया था।

 

ऊपर वर्णित कुछ लोगो के जीवनी को अगर आप ध्यान से जानेंगे तो आप पाएंगे की उन्होंने भी बहुत बार असफलता का सामना किया परन्तु वे उससे उबर कर आगे बढ़ते गए। 

 

इन असफलताओं के बाद आप कैसे अपने को प्रेरित और सकारात्मक रखे ?

 

👉  असफलता ही जीवन में एक प्रेरक कारक है। कठिन समय में जो सबसे जाएदा मजबूत रहता है वही उठ खड़ा होता है।

 

👉  जब कोई किसी चीज में असफल होता है, तो उस असफलता से एक दूसरे काम को करने का रास्ता खुलता है और साथ ही यह याद रखने की सीख भी मिलती है ,की आखिर हम किन कारणों से असफल हुए थे ।

👉  असफलता निश्चित रूप से आपको तोड़ देगी, आपको आंकेगी और आपको परखेगी लेकिन आप सभी तूफानों के बाद कैसे बच के रहते है ,साथ ही अपने काम को करते रहने की सीख अंत में आपको सफल बनाएगी  , और आखिर में यह आपकी सफलता की शानदार कहानी दुनिया के सामने प्रस्तुत करेगी ।

 

👉  सबसे महत्वपूर्ण बात यह है कि ,एक बात याद रखें कि इस पूरी दुनिया में केवल आप ही खुद को मोटिवेट और डिमोटिवेट कर सकते हैं। तो यह आपके ऊपर है की आप अपने को किस रूप में देखना चाहेंगे। एक सफल मोटिवेटेड इंसान के रूम में या एक निराशावादी डेमोटिवटेड वयक्ति के रूप में।  

 

👉  इस तथ्य को समझें कि मनुष्य से गलती होती है – हममें से कोई भी पूर्ण नहीं है। हम सभी गलतियाँ करते हैं और यह ठीक भी है, हमे उनसे सीखना जो है। हर बार जब आप कुछ नया करने की कोशिश करते हैं, तो आप गलतियाँ करेंगे, लेकिन याद रखें, आप किसी ऐसे व्यक्ति से बहुत आगे होंगे जो बिल्कुल भी कोशिश नहीं कर रहा है। तो कोशिश करते रहे। 

 

👉  उन लोगों की कहानियां पढ़ें जिन्होंने अपने क्षेत्र में असाधारण रूप से अच्छा प्रदर्शन किया है और आप बहुत कुछ सीखेंगे।

 

 

इसलिए मजबूत रहें, सकारात्मक रहें और प्रेरित रहें। 💪

 

 

 

Share

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *